ओडिशा में यूजी और पीजी परीक्षाएं स्थगित (फाइल फोटो)

[ad_1]

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला
Up to date Fri, 12 Jun 2020 12:51 PM IST

ओडिशा में यूजी और पीजी परीक्षाएं स्थगित (फाइल फोटो)
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

ओडिशा में कोरोना वायरस की वजह से यूजी और पीजी की अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। सूबे की सरकार ने गुरुवार को स्नातक और स्नातकोत्तर अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया है। यह फैसला विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के कुलपतियों एवं प्राचार्यों के साथ हुई बैठक के बाद लिया गया है। ओडिशा में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए ही यूजी और पीजी पाठ्यक्रमों के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय हुआ है। इस बात की जानकारी सूबे के उच्च शिक्षा मंत्री अरुण साहू ने दी। उन्होंने कहा कि सूबे के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों और कॉलेजों के प्रिंसिपल्स के साथ हुई बैठक के बाद सरकार ने परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया है।

इसे भी पढ़ें-पश्चिम बंगाल: कोरोना से बचाव के लिए विद्यार्थियों को मिड डे मील के साथ दिया जाएगा मास्क और साबुन

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि यूजी और पीजी परीक्षाओं के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना मुश्किल होगा। कोविड-19 के दिशा-निर्देशओं को संशोधित भी नहीं किया जा सकता है ऐसे में स्नातक और स्नातकोत्तर के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि यूजीसी के दिशा-निर्देशों के अनुसार सभी राजकीय विश्वविद्यालय और स्वायत्त कॉलेज अगस्त के अंत तक परिणामों की घोषणा करेंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि छात्रों को वैकल्पिक मूल्यांकन के माध्यम से अंक प्रदान किए जाएंगे। आंतरिक अंकों को निर्धारित वेटेज और उस विषय में सभी पिछले सेमेस्टर / वर्षों में प्राप्त औसत अंकों के आधार पर किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-GCET 2020: ऑफलाइन आवेदन करने की तिथि हुई जारी, जानें मुख्य तारीखें

 
उन्होंने साफ किया है कि अगर  कोई छात्र वैकल्पिक मूल्यांकन के माध्यम से मिलने वाले नंबरों से संतुष्ट नहीं होगा और ज्यादा नंबरों की मांग करेगा तो उसके लिए विश्वविद्यालय और स्वायत्त कॉलेज नवबंर तक फिर से परीक्षाओं का आयोजन करेंगे और दिसंबर में इसका रिजल्ट जारी किया जाएगा।

ओडिशा में कोरोना वायरस की वजह से यूजी और पीजी की अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। सूबे की सरकार ने गुरुवार को स्नातक और स्नातकोत्तर अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया है। यह फैसला विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के कुलपतियों एवं प्राचार्यों के साथ हुई बैठक के बाद लिया गया है। ओडिशा में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए ही यूजी और पीजी पाठ्यक्रमों के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय हुआ है। इस बात की जानकारी सूबे के उच्च शिक्षा मंत्री अरुण साहू ने दी। उन्होंने कहा कि सूबे के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों और कॉलेजों के प्रिंसिपल्स के साथ हुई बैठक के बाद सरकार ने परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया है।

इसे भी पढ़ें-पश्चिम बंगाल: कोरोना से बचाव के लिए विद्यार्थियों को मिड डे मील के साथ दिया जाएगा मास्क और साबुन

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि यूजी और पीजी परीक्षाओं के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना मुश्किल होगा। कोविड-19 के दिशा-निर्देशओं को संशोधित भी नहीं किया जा सकता है ऐसे में स्नातक और स्नातकोत्तर के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि यूजीसी के दिशा-निर्देशों के अनुसार सभी राजकीय विश्वविद्यालय और स्वायत्त कॉलेज अगस्त के अंत तक परिणामों की घोषणा करेंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि छात्रों को वैकल्पिक मूल्यांकन के माध्यम से अंक प्रदान किए जाएंगे। आंतरिक अंकों को निर्धारित वेटेज और उस विषय में सभी पिछले सेमेस्टर / वर्षों में प्राप्त औसत अंकों के आधार पर किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-GCET 2020: ऑफलाइन आवेदन करने की तिथि हुई जारी, जानें मुख्य तारीखें

 
उन्होंने साफ किया है कि अगर  कोई छात्र वैकल्पिक मूल्यांकन के माध्यम से मिलने वाले नंबरों से संतुष्ट नहीं होगा और ज्यादा नंबरों की मांग करेगा तो उसके लिए विश्वविद्यालय और स्वायत्त कॉलेज नवबंर तक फिर से परीक्षाओं का आयोजन करेंगे और दिसंबर में इसका रिजल्ट जारी किया जाएगा।

[ad_2]

Source link