भागलपुर. काेराेना वायरस के संभावित संक्रमण काे लेकर विदेश समेत देश के अन्य हिस्साें से भागलपुर जिले में लाेगाें की प्रशासन लगातार पहचान कर रही है। इसकी संख्या लगातार बढ़ रही है। एक दिन पहले जहां बाहर से नेवालाें की संख्या 4882 थी, वहां बुधवार काे अब 393 बढ़कर उनलाेगाें की संख्या 5275 हाे गई है। इनमें चीन, जापान, अमेरिका समेत 15 देशाें से अाए 85 लाेग भी शामिल हैं। अकेले चीन से चार लाेग आए हैं, येलाेग वहां काम करते थे। लेकिन काेराेना वायरस के संक्रमण के फैलने के बाद वेलाेग वहां से वापस अा गए।

इसके अलावा नेपाल, सउदी अरब, यूके, दुबई, अमेरिका, अरब, कतर, उजबेकिस्तान, बैंकाक, यूक्रेन, कीनिया, अाेमान, यूएसए अाैर काेलम्बाे तक से लाेग अाए हैं। इसके अलावा दूसरे राज्य अाैर बिहार के अन्य जिलाें से भी लाेग अाए हैं। 5275 लाेगाें में से 39 काे अाइसाेलेशन में रखा गया है। जबकि 5236 लाेग हाेम क्वारेंटाइन में हैं। हालांकि अफसराें ने 132 विदेश से अाए लाेगाें की पहचान की है। लेकिन उनमें से केवल 85 का ही सही पता चल पाया है। इन सबकाे हाेम क्वारेंटाइन में रहने की हिदायत प्रशासन बार-बार दे रहा है। इसके बाद भी जानकारी मिल रही है कि ये लाेग बाहर अाराम से अा-जा रहे हैं।

इसकाे लेकर जिला प्रशासन उनलाेगाें पर निगरानी की व्यवस्था मजबूत बनाने की पहल कर रहा है। डीएम ने अफसराें काे निर्देश दिया है कि जो भी व्यक्ति बाहर से आए हैं, उनके घरों पर स्टीकर लगाएं। उनके साथ पारा मेडिकल स्टाफ, आशा, एएनएम काे विदेश से आए लोगों के साथ टैगिंग कर दें। साथ ही जो नये लोग आ रहे हैं ,उनका भी सर्वे कर इंट्री कराएं। अगर वे स्वस्थ हैं, तो होम क्वारेंटाइन कराएं। आंगनबाड़ी सेविका, आशा चक्षु एप से राेज भ्रमण कर ट्रैकिंग करें। ट्रैकिंग से एक भी व्यक्ति न छुटे।


हम बचाव के लिए ये करें : काेराेना संदिग्ध मरीज साबुन से हाथ धाेएं। 80 फीसदी अल्काेहल वाले हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। घर में पानी, बर्तन, ताैलिया अाैर सार्वजनिक उपयाेग की अन्य चीजाें काे न छुएं। सर्जिकल मास्क लगाकर रहें। हर 6 से eight घंटे में मास्क बदलें।