एसबीआई

[ad_1]

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Up to date Fri, 05 Jun 2020 03:27 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने वित्त वर्ष 2020 और इसकी चौथी तिमाही का अपना परिणाम जारी कर दिया है। एसबीआई को वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है। 

वित्त वर्ष 2020 में 14,488 करोड़ रुपये रहा शुद्ध लाभ 
वहीं अगर पूरे वित्त वर्ष 2020 की बात करें, तो कंपनी का शुद्ध लाभ 14,488 करोड़ रुपये रहा है। जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष 2019 में केवल 862 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया गया था। वित्त वर्ष 2020 में बैंक ने सबसे अधिक सालाना शुद्ध लाभ दर्ज किया है।

चार गुना ज्यादा हुआ शुद्ध लाभ
एसबीआई का एकल आधार पर शुद्ध लाभ 2019-20 की मार्च तिमाही में चार गुना ज्यादा है। इस संदर्भ में भारतीय स्टेट बैंक ने शुक्रवार को शेयर बाजार को सूचना दी और कहा कि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2018-19 की इसी तिमाही में उसे 838.four करोड़ रुपये का लाभ हुआ था। 

वित्त वर्ष 2020 में बैंक का परिचालन से लाभ बढ़कर 68,133 करोड़ रुपये रहा, जो यह वित्त वर्ष 2019 में 55,436 करोड़ रुपये था। इस तरह बैंक के परिचालन लाभ में 22.90 फीसदी की सालाना वृद्धि हुई है। साथ ही बैंक की शुद्ध ब्याज आय में भी सालाना आधार पर 11.02 फीसदी की वृद्धि हुई है। घरेलू शुद्ध ब्याज मार्जिन (NIM) की बात करें, तो यह वित्त वर्ष 2020 में सुधार के साथ 3.19 फीसदी पर आ गया। इस तरह इसमें सालाना आधार पर 0.24 फीसदी की बढ़त हुई है।

इसलिए बढ़ा लाभ
बैंक द्वारा अपनी सब्सिडियरी एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विसेज में हिस्सेदारी बेचने से मुनाफे में चार गुना उछाल आया है। यह शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही की तुलना में 327 फीसदी अधिक है। 

इतना रहा एनपीए 
बैंक का सकल एनपीए (गैर-निष्पादित परिसपंत्ति) पिछले वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही में सुधरकर कुल कर्ज का 6.15 फीसदी रहा जो 2018-19 की इसी तिमाही में 7.53 फीसदी था। एसबीआई का शुद्ध एनपीए आलोच्य तिमाही में 2.23 फीसदी रहा, जो एक साल पहले 2018-19 की इसी तिमाही में 3.01 फीसदी था।

कुल आय में भी बढ़ोतरी
31 मार्च 2020 को समाप्त तिमाही में बैंक की कुल आय 76,027.51 करोड़ रुपये रही, जो एक साल पहले 2018-19 की समान तिमाही में 75,670.5 करोड़ रुपये थी। एसबीआई की गैर-ब्याज आय की बात करें, तो वित्त वर्ष 2020 में यह सालाना आधार पर 22.97 फीसदी के उछाल के साथ 45,221 करोड़ रुपये रही है। 

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने वित्त वर्ष 2020 और इसकी चौथी तिमाही का अपना परिणाम जारी कर दिया है। एसबीआई को वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है। 

वित्त वर्ष 2020 में 14,488 करोड़ रुपये रहा शुद्ध लाभ 

वहीं अगर पूरे वित्त वर्ष 2020 की बात करें, तो कंपनी का शुद्ध लाभ 14,488 करोड़ रुपये रहा है। जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष 2019 में केवल 862 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया गया था। वित्त वर्ष 2020 में बैंक ने सबसे अधिक सालाना शुद्ध लाभ दर्ज किया है।

चार गुना ज्यादा हुआ शुद्ध लाभ
एसबीआई का एकल आधार पर शुद्ध लाभ 2019-20 की मार्च तिमाही में चार गुना ज्यादा है। इस संदर्भ में भारतीय स्टेट बैंक ने शुक्रवार को शेयर बाजार को सूचना दी और कहा कि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2018-19 की इसी तिमाही में उसे 838.four करोड़ रुपये का लाभ हुआ था। 

वित्त वर्ष 2020 में बैंक का परिचालन से लाभ बढ़कर 68,133 करोड़ रुपये रहा, जो यह वित्त वर्ष 2019 में 55,436 करोड़ रुपये था। इस तरह बैंक के परिचालन लाभ में 22.90 फीसदी की सालाना वृद्धि हुई है। साथ ही बैंक की शुद्ध ब्याज आय में भी सालाना आधार पर 11.02 फीसदी की वृद्धि हुई है। घरेलू शुद्ध ब्याज मार्जिन (NIM) की बात करें, तो यह वित्त वर्ष 2020 में सुधार के साथ 3.19 फीसदी पर आ गया। इस तरह इसमें सालाना आधार पर 0.24 फीसदी की बढ़त हुई है।

इसलिए बढ़ा लाभ
बैंक द्वारा अपनी सब्सिडियरी एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विसेज में हिस्सेदारी बेचने से मुनाफे में चार गुना उछाल आया है। यह शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही की तुलना में 327 फीसदी अधिक है। 

इतना रहा एनपीए 
बैंक का सकल एनपीए (गैर-निष्पादित परिसपंत्ति) पिछले वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही में सुधरकर कुल कर्ज का 6.15 फीसदी रहा जो 2018-19 की इसी तिमाही में 7.53 फीसदी था। एसबीआई का शुद्ध एनपीए आलोच्य तिमाही में 2.23 फीसदी रहा, जो एक साल पहले 2018-19 की इसी तिमाही में 3.01 फीसदी था।

कुल आय में भी बढ़ोतरी
31 मार्च 2020 को समाप्त तिमाही में बैंक की कुल आय 76,027.51 करोड़ रुपये रही, जो एक साल पहले 2018-19 की समान तिमाही में 75,670.5 करोड़ रुपये थी। एसबीआई की गैर-ब्याज आय की बात करें, तो वित्त वर्ष 2020 में यह सालाना आधार पर 22.97 फीसदी के उछाल के साथ 45,221 करोड़ रुपये रही है। 

[ad_2]

Source link